wind_cyc_super_india_marzo2017_ing_728x90

एक तरफ़ हम विकसित देशों की नक़ल करते हैं, तकनालोजी के मामले में क्यों नहीं ?

तबदीली कुदरत का नियम है , हमें अपनी सोच बदलनी पड़ेगी 

विशव में कोई भी क्रांती ऐसी नहीं जो चुपके से हुई हो 

tech

प्रधान मंत्री नरेंदर मोदी द्वारा लाई गई नोटबंदी, काला धन सहेज के रखने वालों के लिए कशटदाइक है , लेकिन आम जनता के लिए आने वाले समय में इसके अच्छे नतीजे सामने आएंगे। भ्रष्टाचार अथवा काले धन की जमाख़ोरी को अंकुश लगेगा. नोटबंदी के बदलवें प्रबँध कर दिए गए हैं. कैशलैस प्रणाली चालू हो चुकी है, जो थोड़ी बहुत परेशानियां हो रहीं हैं वह भी जल्द ही ठीक कर लीं जाएंगी। कुश लोग कैशलॅस प्रणाली में नुक्स निकाल रहें हैं. एक तरफ़ हम विकसित देशों की नक़ल करते हैं, तकनालोजी के मामले में क्यों नहीं ? तबदीली कुदरत का नियम है , हमें अपनी सोच बदलनी पड़ेगी

अनपढ़ता का शोर मचा के हम लोग और पीछे चले जायेंगे। केंदर सरकार के लिए नोटबंदी का फ़ैसला एक क्रांतीकारी कदम है. इस में कोई संदेह नहीं कि नोटबंदी के ऐलान के बाद आम जनता को भारी परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है, जिस की मुख्य वजह पहले से तैयारी की कमी है, जो कि समय के साथ ठीक हो रही है. देखा जाये तो विशव में कोई भी क्रांती ऐसी नहीं जो चुपके से हुई हो. हम पिछले 67 सालों से भारत की सरकारों को देश देते आ रहे हैं कि उन्होंने भारत की आरथिकता को ऊपर उठाने के लिए कोई ख़ास क़दम नहीं उठाए, जब प्रधान मंत्री नरेंदर मोदी ने इस संबंधी बड़ा कदम उठाया है, तो भारत की जनता को मिल के इस को सफ़ल बनाने के लिए अपना योगदान देना चाहिए.

भारत में नोटबंदी के साथ कई तरह की परेशानियां पैदा हुईं हैं, लेकिन फिर भी समाज को सुधारने के लिए यह बहुत ही अहम फ़ैसला है. इस फ़ैसले से पहले पहल तो परेशानियां आएंगी, लेकिन यह हमारे समाज के लिए बहुत ही लाभदायक है. इस से देश का काला धन खतम होगा, महँगाई भी कम होगी. दुख के बाद ही सुख मिलता है. इसलिए नोटबंदी का फ़ैसला जाइज़ है.