Advertisement
Advertisement

कैपटन सरकार, पाकिसतान से यराना निभाने में मसरूफ – गरेवाल

grewalपंजाब के हालातों को सियासी खेल का शिकार होने से बचाने के लिए पंजाब के सिख भाजपा नेता सुखमिंदरपाल सिंह गरेवाल ने अपने समर्थकों के साथ पंजाब की अवाम को जागरूक करने के लिए ‘बजाओ ढोल खोलो पोल’ रैली के द्वारा अपने आप को कमरबद्ध कर लिया है.
गरेवाल ने बताया कि भाजपा की बड़ी रैली के सम्मेलन के द्वारा कांग्रेस के पंजाबियों से किये धोखे को जग्ग जाहिर करेंगे। प्रैस कानफरंस को संबोधन करते हुए भाजपा के किसान नेता सुखमिंदरपाल सिंह गरेवाल ने कहा कि, पंजाब में मुख्य मंत्री कैपटन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व की कांग्रेस सरकार बुरी तरह फेल हो चुकी है। उन्होंने स्पष्ट किया कि 2019 में भाजपा पंजाब में अपने बड़े कार्यों के साथ बहुमत हासल करेगी, क्युंकि आम लोग जागरूक हो चुके हैं और पंजाब को अब सुरक्षित हाथों में देखने के इछ्छुक है। उन्होंने कहा कि, पंजाबियाँ और पंजाब के किसानों का दिल टूट चुका है, किसान समझ चुके हैं कि उन से कैपटन ने बड़ा धोखा और वाअदा खिलाफी की है। गरेवाल जो कि भारतीय जनता पार्टी किसान मोरचा के कौमी सचिव हैं, ने कहा कि, कैपटन ने चुनाव से पहले पंजाब के युवकों, किसानों, गरीब दलित्त मजदूरों, व्यापारियों, अभिजनों, महिलायें, कर्मचारियों, शहरी, ग्रामीण लोगों और पिछड़े वर्गों से जो वाअदे किए थे उन में एक भी पूरा नहीं किया।
गरेवाल ने कहा कि, बहुत ही दुख की बात है कि कैपटन सरकार के इस समय दौरान अब तक अंदाजन 400 किसान आत्महत्या कर चुके हैं।
उन्होंने कहा कि, कई किसानों ने तो अपने आतम हत्या नोट में भी जिंमेवार कैपटन सरकार को ठहराया है। गरेवाल ने कहा, यह सुसाईड नोट स्पष्ट करते हैं कि पंजाब के किसानों का दिल टूट चुका है। गरेवाल ने कहा कि, इन हालातों के कारण पंजाब जैसे राज्य में एक वह भी काला दिन आया, जिस दिन 7 किसानों ने आत्महत्या की, बहुत ही चिंता का मामला है। उन्होंने कहा कि, वोट हासिल करने के लिए कैपटन ने किसानों का पूरा कर्जा मुआफ करना और कुर्रकी खत्म करना, घर घर रोजी, समारट फोन, 2500 रुपये बेरुज़गारी मुआवजा, 1500 अभिजनों और विधवा पैनशन, आवासहीन दलितों को घर देना, कारखानेदार को 5 रुपये प्रती यूनिट के हिसाब से बिजली देने के जो वाअदे किये थे, गरेवाल ने कहा कि, कैपटन सरकार को बने अंदाजन एक साल हो चुका है, किन्तु एक भी वाअदा पूरा नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि, जमीनी हक़ीकत यह है कि इन सालें के दौरान पंजाब के लोगों को धरना, मारच किसान आत्महत्या, बिजली का कट्ट, सड़क जाम, महिला और दलितों पर अत्याचार के बिना कुछ भी हासिल नहीं हुआ। असल में यहाँ ही बस नहीं क्युंकि जहाँ कांग्रेस पंजाब में विदेशी ताक़तों को हुलारा देने की कोशिश तहत पाकिसतान से यराना निभाने में मसरूफ है, वहां केंद्र पाकिसतानी ऊगरवाद को जड़ से खत्म करने का लिए तत्पर है, इस से कैपटन अमरिंदर का पंजाब के प्रती संजीदगी का स्पष्ट होना रह नहीं सकता। उन्होंने कहा कि, इस संपूर्ण मामले की सूची केंद्र सरकार को देंगे तांकि पंजाब की किरसानी और पंजाब की जवानी को बचाने के लिए कोई ठोस प्रयास किये जा सकें. इस मौक़े गरेवाल ने भाजपा वर्करों को बड़ी तदाद में ‘बजाओ ढोल खोलो पोल’ तहत इकट्ठे होने के लिए कहा।