माछीवाड़ा क्षेत्र में जमीन के नीचे पेट्रोल होने की आशंका, ओएनजीसी ने शुरू की खुदाई

ONGC launches excavation hoping to get gas below ground

श्री माछीवाड़ा साहिब. माछीवाड़ा इलाके के आसपास कई गांवों में जमीन के नीचे पेट्रो पदार्थ होने की आशंका से ओएनजीसी ने जांच शुरू कर दी है। प्राइवेट कंपनी को ठेका दिया गया है। गांव झड़ौदी, लक्खोवाल और रतीपुर के पास 80 फीट गहरे सैकड़ों बोर किए जा चुके हैं।

कंपनी अधिकारी भूपिंदर सिंह ने बताया कि ओएनजीसी को सेटेलाइट से पता चला कि पानीपत से लेकर गुरदासपुर तक कुछ भाग हैं, जहां जमीन के नीचे पेट्रो पदार्थ और गैस हो सकती है। इन जगहों पर बोर कर रिपोर्ट तैयार की जा रही है।ये रिपोर्ट हैदराबाद खोज केंद्र में भेजी जाएगी। उनकी रिपोर्ट से पता चलेगा कि किस गांव में किस जमीन नीचे कितनी मात्रा में पेट्रो पदार्थ हैं। ये रिपोर्ट आने के बाद 3-डी प्रोजेक्ट शुरू होगा और अंतिम रिपोर्ट के बाद पता चल सकेगा कि कहां से तेल या गैस निकाली जा सकती है।

80 फीट नीचे ब्लास्ट से कांप रही धरती, लोग समझ रहे भूकंप :

माछीवाड़ा के आसपास गांव रतीपुर, लक्खोवाल और झड़ौदी में 80 फीट बोर करने के बाद कंपनी उसमें ब्लास्ट कर रही है। जब भी ब्लास्ट होता तो जमीन कांपने के साथ धमक दूर तक सुनाई देती है। पहले-पहले तो लोग भूकंप समझते रहे।  कंपनी अधिकारी भूपिंदर सिंह ने बताया कि ब्लास्ट करने की मंजूरी प्रशासन से ली गई है।