कार्रवाई / युवती को दोस्त के साथ किडनैप कर 12 ने किया था गैंगरेप, कार्रवाई में ढील पर एएसआई सस्पेंड

63950122

  • शनिवार देर रात रायकोट-मुल्लापुर रोड पर दोस्त के साथ सेलिब्रेट कर रही थी युवती, बाइक सवार 5 युवकों ने कार के शीशे तोड़ दोनों को उठाया
  • रेप के बाद छोड़ने के एवज में मांगी फिरौती, बाद में 7 और को बुला रात ढाई बजे तक बारी-बारी किया रेप
  • पीड़ितों का आरोप-रात में सूचना के बाद नहीं पहुंची पुलिस मौके पर, रविवार भी देर रात तक हुई कार्रवाई

लुधियाना. लुधियाना गैंगरेप के मामले में लापरवाही बरतने पर पंजाब पुलिस के एक एएसआई को सस्पेंड किया गया है। पुलिस के मुताबिक चॉकलेट डे पर दोस्त के साथ सेलिब्रेट कर रही एक लड़की को 12 बदमाशों ने उठा लिया था। इसके बाद उसे एक खाली प्लाट में ले जाकर उसके साथ सामूहिक रूप से दुष्कर्म किया था। इस मामले में पुलिस वाले पर कार्रवाई की गाज गिरी है, वहीं 12 में से 2 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। इसके अलावा बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी में मदद के लिए अमतृसर से एक्सपर्ट्स को बुलाया गया है, जो उनके स्कैच बनाएंगे।

 

मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार देर रात युवती अपने दोस्त के साथ कार में रायकोट-मुल्लापुर रोड पर जा रही थी। इस्सेवाल गांव के पास 2 बाइकों पर सवार पांच युवकों ने ईंटें मारकर उनकी कार के शीशे तोड़ दिए और दोनों को किडनैप कर लिया। किडनैपिंग के दौरान बाइक सवारों ने लड़के के साथ मारपीट भी की और उसे गाड़ी में बांधकर बंधक बना लिया। आरोपियों ने रात साढ़े दस बजे के करीब युवक से फोन करके 2 लाख मंगवाने की बात कही। युवक ने अपने एक दोस्त को फोन किया और सारी जानकारी देकर पैसे लेकर आने को कहा, लेकिन इसी दौरान बदमाशों ने अपने सात और साथियों को बुला लिया। वो रात करीब डेढ़ बजे तक युवती के साथ दुष्कर्म करते रहे।

 

पैसे के लिए फाेन किए जाने के बाद उसका दोस्त घटनास्थल की तरफ जाने की बजाय सीधा दाखां थाने पहुंच गया। आरोप है कि पूरी जानकारी देने के बावजूद डेढ़ घंटे तक थाने से पुलिस उसके साथ नहीं चली। करीब 12 बजे जब पुलिस थाने से निकली भी तो कुछ फायदा नहीं हुआ, क्योंकि मौका-ए-वारदात तक नहीं पहुंची। बाद में रात करीब ढाई बजे 2 को छोड़कर बाकी बदमाश मौके से चले गए। अचानक युवती के साथ किडनैप किए गए युवक ने मौका पाकर वहां पड़ी शराब की एक खाली बोतल सिर पर दे मारी तो काफी खींचतान और मारपीट के बाद दोनों बदमाश भी भाग गए।

इसके बाद रविवार दोपहर पीड़ित युवक अपने साथ देर रात मारपीट और लूटपाट की घटना के संबंध में रिपोर्ट लिखवाने थाने पहुंचा तो पुलिस मुलाजिमों को रात की सूचना की याद आई। इसके बाद रविवार देर रात तक पुलिस ने उसकी दोस्त का मेडिकल चेकअप कराया और मौका-मुआयना किया। कुल मिलाकर इस मामले में ढील बरती गई और जैसे ही यह सब एसएसपी जगराओं के ध्यान में आया, उन्होंने लापरवाही के मामले में थाना दाखां के एएसआई विद्यारत्न को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए।

 

इस बारे में एसएसपी ने बताया कि पीड़ित लड़की अपने दोस्त के साथ चाॅकलेट डे मना रही थी। उन दोनों पर हमला करने के बाद किडनैप करके गैंगरेप और लूटपाट जैसी घटना सामने आई है। पीड़ितों की तरफ से लगाए गए लापरवाही के आरोप सही पाए जाने पर एएसआई विद्यारत्न को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकी के स्कैच बनवाने के लिए अमृतसर से एक्सपर्ट्स की टीम को मदद के लिए बुलवाया गया है।